Wednesday, 4 February 2015

सनातन सच ptniya hi adhik mndiron me aati he

द्रव्यमय यज्ञ की अपेक्षा ज्ञान यज्ञ अत्यन्त श्रेष्ठ है तथा यावन्मात्र सम्पूर्ण कर्म ज्ञान में समाप्त हो जाते हैं॥
पत्नी सदेव पति के शुभ कर्मो में आधे की हकदार कहि गयी हे 
इस सनातन सच को जान ते हुऐ भी महिलाओँ की संख्या मंदिरों 
बाबाओं के आश्रमों में अधिक होती हे ना जाने क्यों ?





1 comment: